Asked

"बुरी नजर" को दुर्भाग्य का कारण क्यों माना जाता है?

1 Answer
Sayed

माना जाता है बुरी नजर किसी व्यक्ति की ऐसी नजर होती है, जो देखने या घूरने मात्र से ही किसी व्यक्ति या वस्तु को नुकसान पहुंचा सकती है। यह एक गंदी नजर होती है, जो आपके सौभाग्य को दुर्भाग्य में बदल सकती है। बुरी नजर के लिए दूसरा शब्द अलौकिक नुकसान है। यह एक जादुई अभिशाप होता है, जो बीमारी, नुकसान या मृत्यु का कारण बनता है।

Answer Imageयह आपको असुरक्षित और परेशान करके समाज में आपकी प्रतिष्ठा को घटा सकता है। मूल रुप से यह अभिशाप उन लोगों से आता है, जो आपके धन, स्वास्थ्य और मधुर संबंध के कारण आपसे ईर्ष्या करते हैं। इस अदृश्य अभिशाप के कारण आप अनिद्रा, थकान, दस्त, अवसाद, सिरदर्द, मूड में बदलाव जैसी बीमारियों से पीड़ित हो सकते हैं और कभी-कभी यह मृत्यु का कारण भी बन सकती है।

बुरी नजर के प्रभाव और लक्षण:

ईर्ष्या और कुढ़न किसी भी व्यक्ति में उत्पन्न हो सकती है, जो यह नहीं चाहता कि आप उससे आगे बढ़ें और समृद्ध हों। असल में, उन लोगों की नजर बुरी होती है, जो किसी व्यक्ति या किसी चीज से हमेशा ईर्ष्या करते हैं, जिसे वे आसानी से प्राप्त नहीं कर सकते हैं। छोटे बच्चे दिल के साफ होते हैं और परिवार और पड़ोस के आकर्षण का केंद्र होते हैं। नकारात्मक समृद्धि गहराई से आपकी आत्मा को चोट पहुंचा सकती है। इसके लक्षण तीन रुपों में देखे जा सकते हैं अर्थात् शारीरिक, मानसिक और सबसे अप्रत्याशित परिस्थितिजन्य।

  • प्राथमिक चरण शारीरिक या भावनात्मक रुप से संबंधित होता है। कमजोरी, मनोदशा में तेजी से बदलाव, संक्रमण, बीमारी, पेट दर्द और बुखार, प्राथमिक चरण के लक्षण हैं।
  • माध्यमिक चरण में, लक्षण मानसिक हो सकते हैं, जैसे अवसाद, असहाय, झूठी धारणा, कमजोरी और कभी-कभी भ्रम या बुरे सपने।
  • तीसरा चरण अशुभ होता है, जब खतरा आपके दरवाजे पर दस्तक देता है। यह परिस्थितिजन्य स्थिति होते है, जहां व्यक्ति संपत्ति के नुकासन, बार-बार विफलता, चोरी, दुर्घटना या मृत्यु से ग्रस्त होता है।

संरक्षण और इलाज:

बुरी नजर से पहले ही चरण में बचा जा सकता है। प्रत्येक संस्कृति, धर्म और भौगोलिक क्षेत्र इन दोषों से पीड़ित है। इसलिए उनके पास इसका निवारण करने के लिए इलाज और बचाव होते हैं। बुरी नजर का इलाज करने के लिए कुछ संस्कृति पत्थर का उपयोग करती हैं, कुछ संस्कृतियों में धुएं का उपयोग किया जाता है और कुछ में प्राकृतिक वस्तुओं और सब्जियों का उपयोग किया जाता है। भले ही तरीके अलग हों, लेकिन इनका परिणाम एक समान और अनोखा होता है। ताबीजों पर नीले रंग की आंखों तरह चिन्ह बनत होते हैं, इन्हें पत्थर पर बनाया जाता है, इसका उपयोग बुरी नजर को अवशोषित और वापस भेजने के लिए किया जाता है। कुछ लोग चार्म, मंत्र और पवित्र पानी का उपयोग करते हैं। कुछ लोग ऐसा करने के लिए लहसुन का उपयोग करते हैं। मेक्सिकन लोग बुरी नजर से बचने के लिए कच्चे अंडों का उपयोग करते हैं। तरीके अलग हो सकते हैं पर परिणाम एक ही होता है।

बुरी नजर की वैज्ञानिक व्याख्या:

बुरी नजर के लिए विज्ञान में कुछ स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है। हालांकि दुनिया की विभिन्न संस्कृतियां इसमें विश्वास करती है। यह एक रहस्य है कि दुनिया की विभिन्न संस्कृतियां एक ही विचार में विश्वास करती हैं। विज्ञान कल्पित कथाओं में विश्वास नहीं करता है और न ही उनसे इनकार करता है। दुनिया भर के लोग अंधविश्वास और उसकी प्रथाओं में विश्वास करते हैं। जबकि विज्ञान इन कल्पित कथाओं को मूर्खता के रुप में देखता है। वे यह भी मानते हैं कि इस तरह की कोई चीज होती है, लेकिन कोई भी स्पष्टीकरण और शोध न होने के कारण, इसमें कोई विज्ञान नहीं है।

निष्कर्ष:

हम 21वीं सदी में जी रहे हैं, जहां प्राचीन विश्वासों की कोई भूमिका नहीं है। हम सभी बहुत परिपक्व हैं और तथ्यों को इकट्ठा करते हैं। इस चीज को लोग देख नहीं सकते हैं, वे उसपर विश्वास नहीं करते हैं। खैर, यह तथ्य अभी तक रहस्य बना हुआ है कि क्या ऐसा कुछ वास्तव में होता भी है या नहीं। लेकिन रोजाना की परिस्थितियों व प्रथाओं को देखकर कभी-कभी ऐसा लगता है कि कुछ तो है।

Feeds
Feeds
Latest Questions
Top Writers