Asked

पी.एफ वापसी के समय फॉर्म 15एच का क्या उपयोग होता है?

1 Answer
Minal

आप फॉर्म 15एच यह सुनिश्चित करने के लिए जमा करते हैं कि यदि आप नीचे लिखे शर्तों को पूरा करते हैं, तो आपकी आय से टीडीएस की कटौती नहीं की जाती है। इसके अलावा, इन फॉर्मों के लिए आवेदन करने से पहले आपके पास पैन नंबर होना चाहिए। यदि आपकी कुल आय कर योग्य सीमा से कम है, तब भी आप फॉर्म 15एच बैंक में जमा करके यह अनुरोध कर सकते हैं कि आपके जमा ब्याज पर कोई भी टीडीएस न काटा जाए।

फॉर्म 15एच वरिष्ठ नागरिकों के लिए होता है, जबकि फॉर्म 15जी सभी के लिए होता है।

Answer Image

फॉर्म 15एच केवल एक वित्तीय वर्ष के लिए ही वैध होता है। इसलिए यदि आप योग्य हैं, तो आपको प्रत्येक वर्ष यह फॉर्म जमा करना होगा। यदि वित्तीय वर्ष के शुरुआत में ही आप यह फॉर्म जमा करते हैं, तो ये यह सुनिश्चित करेंगे कि बैंक ब्याज आय पर कोई भी टीडीएस नहीं काटेगा।

 फॉर्म 15एच के लिए शर्तें:

  1. व्यक्ति
  2. भारतीय निवासी होना चाहिए।
  3. जिस वर्ष के लिए हम फॉर्म जमा कर रहे हैं, उस समय हमारी आयु 60 वर्ष होनी चाहिए।

अतिरिक्त टीडीएस कटौती के लिए हमें क्या करना चाहिए:

  • टीडीएस की वापसी के लिए आयकर रिटर्न भरें। अत्याधिक टीडीएस कटौती को वापस पाने का यही एक मात्र तरीका है। बैंक या अन्य डिटेक्टर टीडीएस वापस नहीं कर सकते हैं क्योंकि वे पहले ही टीडीएस आयकर विभाग को जमा कर चुके होते हैं। आयकर रिटर्न भरने के बाद ही, आयकर विभाग अत्याधिक टीडीएस का भुगतान करता है।
  • फॉर्म 15एच तुरंत जमा करें। आम तौर पर टीडीएस हर तीन महीने में काटा जाता है। यदि आप फॉर्म 15एच जमा करना भूल गए हैं तो घबराने की कोई बात नहीं है। इसे जल्द से जल्द जमा करें ताकि शेष वित्तीय वर्ष में कोई टीडीएस कटौती न हो।

फॉर्म 15 एच जमा करने का उद्देश्य:

हालांकि ये सभी फॉर्म बैंक में यह सुनिश्चित करने के लिए जमा किए जाते हैं कि ब्याज पर कोई भी टीडीएस न कटे। नीचे फॉर्म जमा करने के लिये कुछ अन्य स्थान बताये गए हैं।

  • ईपीएफ वापसी पर टीडीएस
  • कॉर्पोरेट बॉन्ड से होने वाली आय पर टीडीएस
  • किराए पर टीडीएस
  • बीमा से आने वाले कमीशन पर टीडीएस
Feeds
Feeds
Latest Questions
Top Writers